Articles in Category Saints And Sages

संत तुकाराम जयंती : जिन्होंने भक्ति को नया रुप दिया

संत तुकाराम भक्त और एक महान संत थे. भगवान श्री कृष्ण की भक्ति में डूबे हुए संत तुकाराम जी का जन्म एक ऎसी घटना थी जिसने भक्ति की धारा को एक नया रंग दिया. ये एक महान संत कवि थे जो भारत में लंबे समय तक

माध्वाचार्य जयंती, द्वैतवाद सिद्धांत के विचारक और प्रचारक

माध्वाचार्य जी का समय काल 1199-1317 लगभग के आस पास का बताया गया है. उनका जन्म दक्षिण भारत में हुआ था. माध्वाचार्य एक महान दार्शनिक एवं धर्मप्रवर्तक थे. उन्होने द्वैतमत को आधार प्रदान किया.

रामदास नवमी : समर्थ रामदास जी का जीवन चरित्र

रामदास जी का संत परंपरा में एक विशेष स्थान रहा है. इनके द्वारा की गई रचनाओं और ज्ञान को पाकर लोगों का मार्गदर्शन हो पाया है. आज भी उनकी संत रुपी वाणी के वचनों को पढ़ कर और सुन कर लोग प्रकाशित होते

ज्ञान पंचमी 2022 : क्यों मनाई जाती है ज्ञान पंचमी

जैन धर्म से संबंधित ज्ञान पंचमी सभी के लिए एक अत्यंत ही पूजनीय और महत्वपूर्ण दिवस है. कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को ज्ञान पंचमी' का पर्व मनाया जाता है". मान्यताओं के अनुसर इसी शुभ समय पर

चंद नवमी 2022

भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की नवमी को श्री चंद्र नवमी के रुप में या जाता है. यह उत्सव उदासीन संप्रदाय के प्रवर्तक चंद्र जी के लिए समर्पित है. इस वर्ष 05 सितंबर 2022 को चंद्र नवमी मनाई जाएगी. भारतवर्ष

आषाढ़ पूर्णिमा 2022 : आज के दिन पूरे होंगे सारे काम

आषाढ़ मास की पूर्णिमा तिथि के दौरान श्री विष्णु भगवान का पूजन और गुरु का पूजन किया जाता है. वर्ष भर में आने वाली सभी प्रमुख पूर्णिमाओं में एक आषाढ़ पूर्णिमा भी है. इस दिन भी किसी विशेष कार्य का आयोजन

रामानुजाचार्य जयंती 2022

भारत में चली आ रही संत एवं भक्ति परंपरा के मध्य एक नाम रामानुजाचार्य जी का भी आता है. यह दर्शन शास्त्र में अपनी भूमिका को दर्शाते हैं. रामानुजाचार्य जी ने अपनी ज्ञान एवं आध्यात्मिक ऊर्जा द्वारा देश

नारद जयंती 2022 : सफल होंगे सभी काम

नारद मुनि जी को ब्रह्मा जी का मानस पुत्र कहा जाता है. इस वर्ष नारद जयंती 17 मई 2022 को मंगलवार के दिन मनाई जाएगी. इस नारद जयंती के उपलक्ष्य पर देश भर में कई तरह के धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया

सती अनुसूया जयंती 2022| Sati Anusuiya Jayanti | Anusuiya Jayanti 2022

20 अप्रैल 2022 को सती अनुसूया जयंती मनाई जाएगी. अनुसूया जी का स्थान पतिव्रता स्त्रियों श्रेणी में सर्वोपरी रहा है. दक्ष प्रजापति की चौबीस कन्याओं में से एक थी अनुसूया जो मन से पवित्र एवं निश्छल प्रेम

वाल्मीकि जयंती 2022 | Maharishi Valmiki Jayanti 2022 | Valmiki Jayanti 2022

महर्षि वाल्मीकि प्राचीन वैदिक काल के महान ऋषियों कि श्रेणीमें प्रमुख स्थान प्राप्त करते हैं. इन्होंने संस्कृत मे महान ग्रंथ रामायण महान ग्रंथ की रचना कि थी इनके द्वारा रचित रामायण वाल्मीकि रामायण

दधीचि जयंती 2022 | Dadhichi Jayanti | Dadhichi Jayanti 2022

प्रतिवर्ष भाद्रपद माह की अष्टमी को दाधीच जंयती मनाई जाती है. पौराणिक आख्यानों के अनुसार महर्षि दधीचि ने अपनी हड्डियो को दान में देकर देवताओं की रक्षा की थी. इस वर्ष 04 सितंबर 2022 को दधिचि जयंती मनाई

ऋषि पंचमी व्रत 2022 | Rishi Panchami Fast 2022

भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी ऋषि पंचमी के रुप में मनाई जाती है. इस व्रष ऋषि पंचमी व्रत 01 सितंबर 2022 के दिन किया जाना है. ऋषि पंचमी का व्रत सभी के लिए फल दायक होता है. इस व्रत को श्रद्धा व

पुरूषोत्तमा एकादशी | Purushottam Ekadashi 2022 | Purushottam Ekadashi Fast

पुरूषोत्तमा एकादशी व्रत पुरुषोत्तम मास (अधिक मास ) में करने का विधान है. पुरूषोत्तमा एकादशी के विषय में एक समय धर्मराज युधिष्ठिर ने भगवान श्री कृष्ण से पूछा कि हे भगवन मुझे पुरुषोत्तम मास की एकादशी

तुलसीदास जयंती 2022 | Tulsidas Jayanti | Tulsidas Biography

सम्पूर्ण भारतवर्ष में गोस्वामी तुलसीदास के स्मरण में तुलसी जयंती मनाई जाती है. श्रावण मास की सप्तमी के दिन तुलसीदास की जयंती मनाई जाती है. इस वर्ष यह 04 अगस्त 2022 के दिन गोस्वामी तुलसीदास जयंती मनाई

भृगु संहिता | Bhrigu Samhita | Rishi Bhrigu | Saint Bhrigu

भृगु संहिता में भृगु जी ने अपने ज्ञान द्वारा ग्रहों, नक्षत्रों की गति को देख कर उनका पृथ्वी और मनुष्यों पर पड़ने वाला प्रभाव जाना और अपने सिद्धांतो को प्रतिपादित किया. शोध एवं खोज के उपरांत उन्होंने

ऋषि जमदग्नि | Saint Jamdagni | Maharshi Jamadagni

जमदग्नि ऋषि का जन्म भृगुवंशी ऋचीक के पुत्र के रुप में हुआ था. जमदग्नि जिनकी गणना 'सप्तऋषियों' में होती है इनकी पत्नी राजा प्रसेनजित की पुत्री रेणुका थीं. भृगुवंशीय जमदग्नि ने अपनी तप्सया एवं साधना

ऋषि पराशर | Sage Parashara | Parasara Maharshi | Parasara Muni

ऋशि पराशर जी प्राचीन भारतीय ऋषि मुनि परंपरा की श्रेणी में एक महान ऋषि के रूप में सामने आते हैं. प्रमुख योग सिद्दियों के द्वारा तथा अनेक महान शक्तियों को प्राप्त करने वाले ऋषि पराशर महान तप और साधना

महर्षि ऋभु | sage Ribhu | Saint Ribhu | Maharshi Ribhu

महर्षि ऋभु ब्रह्मा जी के मानस पुत्रों में से एक हैं. ऋषि ऋभु ब्रह्मतत्त्वज्ञ तथा निवृत्तिपरायण भक्त हुए. इनकी क्षमता ने इन्हें एक महान तपस्वी बनाया इनकी अगाध श्रद्धा ने ही इन्हें प्रभु के भक्त रुप

च्यवन ऋषि | Sage Chyavana | Rishi Chyavana | Chyavana Maharshi

महान ऋषि भृगु के पुत्र थे च्यवन ऋषि, इनकी माता का नाम पुलोमा था. ऋषि च्यवन को महान ऋषियों की श्रेणी में रखा जाता है इनके विचारों एवं सिद्धांतों द्वारा ज्योतिष में अनेक महत्वपूर्ण बातों आगमन हुआ इस

ऋषि दुर्वासा | Durvasa | Rishi Durvasa | Durvasa Biography | Durvasa Muni

ऋषि मुनियों की परंपरा में दुर्वासा ऋषि का अग्रीण स्थान रहा है इतिहास के आदिकालीन महान ऋषियों में यह प्रमुख स्थान रखते हैं, ऋषि दुर्वासा सतयुग, त्रैता एवं द्वापर युगों के एक प्रसिद्ध सिद्ध योगी महर्षि